Retirement Planning

Retirement Planning: सोच-समझकर करें रिटायरमेंट की प्लानिंग (How to Secure Your Golden Years)

Retirement Planning :बुढ़ापे में आपको किसी पर बोझ न बनना पड़े इसके लिए रिटायमेंट प्लानिंग बहुत जरूरी है। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि आपको रिटायरमेंट प्लानिंग क्यों करनी चाहिए ? किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ? और कैसे रिटायरमेंट प्लान करनी चाहिए ?

हर व्यक्ति की काम करने की उम्र और क्षमता होती है, एक उम्र के बाद वह व्यक्ति छोटे-मोटे काम तो कर सकता है लेकिन पहले की तरह एक्टिव होकर और अपनी पूरी क्षमता के साथ अपना काम करने में असमर्थ हो जाता है। ऐसे में वह व्यक्ति सेवानिवृत्त यानी रिटायरमेंट के बारे में सोचता है।

रिटायरमेंट के बाद आप भले ही काम न करें लेकिन आपको जीवन को आगे चलाने के लिए पैसा तो चाहिए ही। Retirement का मतलब यह नहीं की आप अपने सपनों को त्याग दें बल्कि रिटायरमेंट का सुख उसमें है जो आप जीवन में करना चाहते थे, लेकिन उस वक्त आप काम करने की वजह से कर नहीं पाए।
ऐसे में आपको जरूरत है सही Retirement Planning की जो आपको अपने सभी उद्देश्यों को और सभी सपनों को प्राप्त करने में मदद कर सकें।

क्या होती है रिटायरमेंट प्लानिंग (What is Retirement Planning)?

आसान भाषा में कहें तो रिटायरमेंट प्लानिंग का मतलब है अपने आने वाले जीवन के लिए आज और अभी से खुद को तैयार करना।
रिटायरमेंट प्लानिंग और कुछ नहीं बल्कि रिटायरमेंट अपनी सेविंग को बढ़ाने के लिए सही तरीके से निवेश करने की एक प्रक्रिया है। इसके लिए अगर आप Income के Source को पहचान गए और खर्चों का अनुमान लगाना सीख गए , जो भी सविंग schemes हैं उनमे से सही Saving schemes को चुन लिया तो समझ लो आपने अपने लिए रिटायरमेंट की प्लानिंग सही से कर ली है।
रिटायरमेंट प्लानिंग के माध्यम से आप खुद को एक सुखद और Secure रिटायरमेंट की गारंटी दे सकते हैं।

क्यों करें रिटायरमेंट प्लान?

कुछ भी करने से पहले हम सबके मन में यह सवाल आता है कि यह रिटायरमेंट की प्लानिग क्यों करना है। तो आज हम आपको बताएंगे कि आपको अपनी रिटायरमेंट प्लानिंग क्यों करनी चाहिए।

इमरजेंसी खर्चों के लिए:

वक़्त के साथ साथ जब उम्र उम्र बढ़ती जाती है तो उसी के साथ साथ व्यक्ति स्वाभिमानी भी होता जाता है और किसी पर भी निर्भर नहीं होना चाहता। ऐसे में आपके लिए बहुत जरूरी है कि आप अपना रिटायरमेंट प्लान अच्छे से करें ताकी आप बुढ़ापे में किसी पर बोझ ना बने।
सही तरीके से रिटायमेंट प्लान करने से आप इमरजेंसी फाइनेंसियल पोजीशन और मेडिकल expense के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहेंगे। इसलिए आपको सही रिटायरमेंट प्लान के साथ एक इमरजेंसी फंड जरूर बनाना चाहिए।

महंगाई से लड़ने के लिए (Inflation):

हर साल महंगाई बढ़ती है जिससे चीजें महंगी होती जाती है। जाहिर सी बात है जब तक आप रिटायर होंगे तब तक महंगाई और ज्यादा बढ़ जाएगी। आपको रिटायरमेंट प्लान इसलिए करना चाहिए ताकि आप Inflation को कंट्रोल कर सके।
यह जरूर देखें कि आपने जो रिटायरमेंट प्लान चुना है उसमें increasing sum assured विकल्प है या नहीं।

अपने परिवार के Goal को पूरा करने के लिए (Fulfil the Goals):

हर व्यक्ति अपने परिवार को सुख देने के लिए पूरी जिंदगी मेहनत करता है। ऐसे में आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए की आपके आराम करने के बाद भी आपके परिवार के लिए पैसे बने रहे।
अब जान लेते हैं की रिटायरमेंट प्लान करते वक्त किन चीजों का रखें ध्यान?

लाइफ एक्सपेंटेंसी

हाल ही के दिनों में हम सब स्वस्थ्य रहने के लिए अपने आहार को सही कर रहे हैं। जाहिर सी बात है कि आप अपने दादा-दादी की तुलना में अधिक समय तक जीवित रहने वाले है। आप जितने लंबे समय तक जीवित रहेंगे, आपको उतने ही अधिक पैसों की जरूरत होगी।

सेवानिवृत्ति की उम्र

व्यक्ति की फितरत होती है काम करना, इसलिए जब आप काम कर सकते हैं आप काम करते हैं। अगर रिटायरमेंट को अच्छे तरीके से प्लान किया जाए तो आप दूसरों से बहुत पहले काम छोड़ सकते हैं और शेष जीवन आराम से व्यतीत कर सकते हैं।

मेडिकल खर्च

उम्र के साथ बीमारियां बढ़ती जाती है। ऐसे में आप पर बुढ़ापे में मेडिकल का खर्च बढ़ सकता है। इन खर्च में सबसे ज्यादा खर्चा दवाओं पर होता है। इसके अलावा डॉक्टर द्वारा लिखे गए अलग अलग तरह की जाँचों पर होता है। अगर किसी होस्पिटल मे भर्ती हो गए है तो यह खर्चा और भी बड़ जाता है। ऐसी स्थिति में अगर आपने अपना रिटायमेंट प्लान किया है तो ज्यादा परेशानी नहीं आएगी।

कैसे रिटायरमेंट की प्लानिंग करनी चाहिए?

एक बजट बनाएं

रिटायमेंट प्लान करने से पहले आप यह बजट बनाएं की आपकी अभी की Income और Expense कितने है। आप यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि आपके पास बचत करने के लिए पैसे हो।
घर खर्च और खाने के अलावा आपको अपने बजट के हिस्से के रूप में अपने Retirement के सविंग को शामिल करना चाहिए ताकि आप हर महीने उसके लिए पैसे अलग से रख सकें। और आपका रिटायमेंट के बाद जीवन अच्छे से बीते।

ऑटोमैटिक फंड ट्रांसफर को करें सेट

अपने खाते और आपके रिटायमेंट खाते के बीच आप एक सेटटिंग जरूर कर लें कि हर महीने की उसी तारीख को कुछ पैसे अपने आप आपके रिटायमेंट खाते में जमा हो जाएं जिस Date को आपने चुना है। इस तरीके से आपको पैसों को खर्च करने की जोखिम भी नहीं रहेगी। इस बचाए हुये amount को आप एसी जगह इन्वेस्ट करें जहां से आपको बाद मे अच्छा खासा रिटर्न ब्याज सहित मिल सके।

कर्ज को करें कम

कोशिश करें की आप 65 साल की उम्र तक कर्ज मुक्त हो जाएं। आपने किसी भी प्रकार का कोई भी लोन लिया है, जैसे क्रेडिट कार्ड लोन, कार लोन, Home Loan, या फिर Education के लिए लिया गया लोन या फिर कोई और लोन, तो उसे 60 से 65 साल की उम्र तक खत्म कर दें। और टेंशन फ्री जिंदगी जीये।

कहाँ पर इन्वेस्ट करें?

इसके लिए आप अपनी उम्र के हिसाब से सही से पैसे इन्वेस्ट करें।
अगर आप कम उम्र मे ही रिटायमेंट प्लान करते है तो आप हाइ रिस्क वाले वाले म्यूचुअल फ़ंड प्लान चुन सकते हैं। जिनमे आपको रिटर्न भी अच्छा मिलेगा।
लेकिन अगर आप 100% सूरक्षित रिटायमेंट प्लान करना चाहते हैं तो आपको पोस्ट ऑफिस के MIS या फिर सीनियर सिटिज़न सेविंग स्कीम को चुनना चाहिए।
इसके अलावा आप नेशनल पेंशन स्कीम यानी NPS मे भी इन्वेस्ट कर सकते हैं।
ये सभी सरकारी स्कीम हैं, इनमे किया गया इनवेस्टमेंट 100% सूरक्षित होता है। इन सभी schemes मे इन्वेस्ट करने मे कोई भी रिस्क नही हैं। बस इन schemes मे आपको Mutual funds से कम रिटर्न मिलता है।
तो आज के समय में नौकरी के साथ ही रिटायरमेंट प्‍लानिंग करना बहुत जरूरी है, तभी आने वाले समय में आप अपने बुढ़ापे को सिक्‍योर कर सकते हैं.

इस ब्लॉग का विडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें-

कंप्यूटर बेसिक से सम्बंधित अन्य महत्वूर्ण लेख पढ़ें:

What is Computer? – कंप्यूटर क्या है?कम्प्यूटर की पीड़ियाँ [Generation of Computer]
Input Device क्या है और इसके प्रकारOutput Devices [आउटपुट उपकरण ]
Characteristics Of Computer [कम्प्यूटर की विषेषताऐं]कंप्यूटर के अनुप्रयोग (Applications of Computer)
Development of Computer in Hindi- कंप्यूटर का विकासइंटरनेट क्या है (What is Internet)?
CPU क्या है [ What is C.P.U. ]?इंटरनेट का मालिक कौन है (Who is the owner of the internet)?
कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory in Hindi):कम्प्युटर मेमोरी क्या है -What is Computer Memory? | Types of Memory
Computer Memory Units-मेमोरी यूनिट क्या है?कंप्यूटर नेटवर्क -Computer Network

Read Also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *