Application Software

एप्लीकेशन सॉफ्टवेर क्या है? What is Application Software in Hindi

Application Software जो यूजर के लिए खास काम को पूरा करते है, “Application Software” या एप्लीकेशन कहलाते हैं। यानी हार्डवेर पर चलने वाले प्रोग्राम को Software कहते हैं। बिना सॉफ्टवेर के हार्डवेर किसी काम के नहीं होते, चाहे वो कम्प्युटर का हार्डवेर हो या फिर मोबाइल हार्डवेर। इसको Workable बनाने के लिए Software की जरूरत होती है।

तो Software को दो कैटेगरी मे बांटा गया है। 1. System Software और दूसरा 2. Application Software। तो यहाँ आपको एप्लिकेशन सॉफ्टवेर के वारे मे विस्तार से बताएँगे।

What is Application Software ? एप्लिकेशन सॉफ्टवेर क्या है ?

Application Software को खास उद्देश्य के लिए बनाया जाता है जो की सिस्टम सॉफ्टवेर के ऊपर Run होता है। जैसे हमे कम्प्युटर पर अकाउंट से संबन्धित कार्य करना है तो इसके लिए Tally Application Software पर काम करते हैं, ट्यपिंग से संबन्धित कार्य के लिए MS Word Application को खोलते हैं। एप्लीकेशन के काम कुछ इस प्रकार है:

  • यह एक प्रोडेक्टिविटी बिजनेस टूल है।
  • यह ग्राफिक और मल्टीमीडिया की सहायता करता है।
  • यह घरेलू और पर्सनल बिजनेस की गतिविधियों को स्पोर्ट करता है।
  • यह कम्यूनीकेशन टूल्स भी प्रदान करता है।

एप्लीकेशन के उपरोक्त चार यूटीलिटीज परस्पर विशिष्ट नहीं हैं। उदाहरण के लिए सभी ई-मेल प्रोग्राम्स, कंप्यूनिकेशन प्रोडक्टिविटी प्रोग्राम्स हैं। होम और बिजिनेस यूजर दोनो वैध सॉफ्टवेयर रखते हैं।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की वैरायटी, पैकेज्ड सॉफ्टवेयर की तरह उपलब्ध है। आप इन सॉफ्टवेयर को रिटेल स्टोर के संबंधित विक्रेता या वैब पर खरीद सकते हैं। एक सॉफ्टवेयर पैकेज माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस जैसा एक सॉफटवेयर प्रोडकर होता है। शेयरवेयर, फ्रीवेयर और पब्लिक-डोमेन सॉफ्टवेयर जैसे कई सॉफ्टवेयर पैकेजेज भी उपलब्ध हैं। तो भी ये पैकेजेज रिटेल सॉफ्टवेयर पैकेजेज के मुकाबले कम क्षमता रखते हैं।

प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर (Productivity Software)

डेली एक्टिविटीज करते समय प्रोडक्टिविटी सॉफ्टवेयर ज्यादा एफिसिएंसी और इफेक्टिवनेस पाने के लिए लोगों की मदद करते हैं। इनमें वर्ड प्रोसेसिंग, स्प्रेडशीट, डाटाबेस, प्रेजेंटेशन, ग्राफिक्स, पर्सनल इन्फोर्मेशन मैनेजर, सॉफ्टवेयर सूट, एकाउंटिंग और प्रोजेक्ट मैनेजमेंट जैसे एप्लीकेशंस शामिल हैं।

वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर (Word Processing Software)

जब हमे कोई टेक्स्ट से संबन्धित कार्य करने होते हैं तब वर्ड प्रोसेसिंग एप्लिकेशन का उपयोग करते हैं। इसमे किसी भी प्रिंट होने वाले मैटीरियल की कंपोजीशन, एडीटिंग, फोमेंटिंग और प्रिंटिंग इत्यादि करते हैं । इसमे किसी भी फ़ाइल को सेव करके कंप्यूटर मैमरी मे या डिस्क मे रख सकते हैं।

वर्ड प्रोसेसिंग फंक्शंस में स्पेल चैकिंग, ग्रामर चैकिंग और थिसारस पर्यायवाची शब्दकोश शामिल हैं। थिसारस समान और विपरीत अर्थों वाले शब्द ढूंढ़ता है। Word Processor टेक्स्ट एडीटर जैसे सॉफ्टवेयर और अन्य सॉफ्टवेयर से अलग हो सकता है।

नोटपैड भी एक टेक्स्ट एडीटर वर्ड प्रोसेसर एप्लिकेशन है। एमएस वर्ड से भी पहले Notepad आ चुका था, इसमे भी कंपोजिंग और एडीटिंग के लिए सुविधा होती है । पहले डॉक्यूमेंट का फोरमेट ज्यादा अच्छे से नहीं करते थे। प्रोग्रामर्स, वेबवसाइट डिजायनर्स और कंप्यूटर सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर द्वारा इस टेक्स्ट एडीटर का मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता है।

स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर (Spreadsheet Software)

स्प्रेडशीट एक एस सॉफ्टवेयर है, जो आपको रो और कॉलम में डाटा ऑर्गेनाइज करने की अनुमति देता है। ये रोज (Rows) और कॉलम्स (Columns) को सामूहिक रूप से वर्कशीट कहते हैं। सालों तक लोग कागज और पेंसिल से रोज और कॉलम्स में डाटा ऑर्गेनाइज करने जैसा मैन्युअल तरीका अपनाते थे। इलैक्ट्रॉनिक वर्कशीट में डाटा उसी तरह आर्गेनाइज किया जाता है, जैसे ये मैन्युअल वर्कशीट पर किया जाता है।

वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर के साथ ज्यादातर स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर में आपको वर्कशीट बनाने, एडिट और फोर्मेट करने वाले बेसिक फीचर्स होते हैं।

डाटाबेस सॉफ्टवेयर (Database Software)

डाटाबेस इस तरह आर्गेनाइज्ड डाटा का कलेक्शन होता है कि वह डाटा को एक्सेस, रीट्रीवल, सुधारने और प्रयोग करने की अनुमति देता है। मैन्युअल डाटाबेस में आप पेपर पर डाटा रिकार्ड करते होंगे और फाइलिंग केबिनेट में रखते होंगे। डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम डी.बी.एम.एस. कहलाने वाला डाटाबेस सॉफ्टवेयर ऐसा सॉफ्टवेयर है, जो आपको डाटाबेस क्रिएट, एक्सेस और मैनेज करने की अनुमति देता है। डाटाबेस सॉफ्टवेयर का प्रयोग करके आप डाटाबेस में डाटा एड, चेंज और डिलीट कर सकते हैं, सॉर्ट और रीट्रीव कर सकते हैं तथा डाटाबेस के डाटा इस्तेमाल करते हुए फॉर्म्स और रिपोर्टस को बना सकते हैं।

पर्सनल कंप्यूटर के ज्यादातर लोकप्रिय डाटाबेस सॉफ्टवेयर पैकेजेज रोज और कॉलम्स में ऑर्गेनाइज्ड होते हैं। डाटाबेस टेबल के समूह में बने होते हैं। एक टेबल की एक रो रिकार्ड होती है, जिसमें पर्सन, प्रोडक्ट या इवेंट के बारे में जानकारी होती है। एक टेबल में एक कॉलम फील्ड होता है, जिसमें रिकार्ड के अंदर की जानकारी होती है।

प्रेजेंटेशन ग्राफिक्स सॉफ्टवेयर (Presentation Graphics Software)

प्रेजेंटेशन ग्राफिक्स आपको ऐसे डाक्यूमेंट क्रिएट करने की अनुमति देते है, जो आइडियाज, मैसेजेस और अन्य इन्फोर्मेशन किसी ग्रुप को कम्युनिकेट करने में प्रयुक्त होते हैं। प्रेजेंटेशंस स्लाइड की तरह दिख सकते हैं, जो किसी बड़े मॉनीटर या किसी प्रोजेक्शन स्क्रीन पर डिसप्ले होते हैं। प्रेजेंटेशन का एक पेज स्लाइड कहलाता है। स्लाइड में विजय दर्शक को समझाने के लिए टेक्स्ट, ग्राफिक्स, मूवीज, साउंड आदि हो सकता है।

जब आप प्रेजेंटेशन बनाते हैं, तो आप स्लाइड टाइमिंग भी सैट कर सकते हैं, ताकि प्रेजेंटेशन बिना किसी देरी के अगली स्लाइड को स्वतः ही प्रदर्शित करे। हर स्लाइड के बीच अंतर के लिए विशेष इफेक्ट एप्लाई किए जा सकते हैं। उदाहरण के लिए एक स्लाइड धीरे-धीरे डिसाल्व हो और अगली स्लाइड देखने में आती जाए।
एक बार आपने प्रेजेंटेशन क्रिएट कर ली, तो उसे आप स्लाइड या विभिन्न अन्य फोर्मेट्स में देख और प्रिंट कर सकते हैं। प्रेजेंटेशन ग्राफिक्स में स्पेलिंग चैकर, फोंट फोर्मेटिंग केपेबिलिटीज, मौजूदा स्लाइड शो को वर्ल्ड वाइड वैब के लिए स्टैंडर्ड डाक्यूमेंट फोरमेट में बदलने की क्षमता जैसे वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर में पाए जाने वाले कुछ फीचर्स भी जुड़े होते हैं।

एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर (Accounting Software)

अकाउंटिंग एप्लिकेशन मे कंपनियां एकाउंटिंग से संबन्धित अपनी फाइनेंशियल ट्रांजेक्शंस रिकार्ड या रिपोर्ट को रख सकती हैं। सॉफ्टवेयर से छोटे और बड़े बिजिनेस यूजर्स जनरल लेजर, एकाउंट रिसीवेबल, एकाउंट पेयेबल, परचेजिंग, इनवॉइस जॉब कोस्टिंग और पेरोल फंक्शंस संबंधी एकाउंटिंग एक्टिविटीज कर सकते हैं। आप भी चैक राइट व प्रिंट करने ट्रेक चेकिंग एकाउंट एक्टिविटी के लिए एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर का प्रयोग कर सकते हैं। डायरेक्ट डिपॉजिट और पेरोल सर्विसेस, नए एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर पैकेजेज द्वारा ऑन लाइन सपोर्टेड होते हैं। इन सर्विसेस के प्रयोग से कंपनी में पे चैक कर्मचारी के चैकिंग एकाउंट में सीधा डिपॉजिट हो सकता हैं और कर्मचारी के टैक्स इलैक्ट्रॉनिकली पेड किए जा सकते हैं।

केड (CAD)

कंप्यूटर एडिड डिजायन (CAD) का प्रयोग प्रोडक्ट्स को डिजायन, डेवलप और ऑप्टिमाइज करने के लिए होता है, एंड-कज्यूमर द्वारा प्रयोग की जाने वाली वस्तुएं हो सकती हैं या अन्य प्रोडक्ट्स में प्रयोग की जाने वाली इंटरमीडिएट वस्तुएं हो सकती हैं। पुर्जी के निर्माण में प्रयुक्त होने वाले टूल्स और मशीनरी की डिजाइन बनाने में विस्तृत केड का प्रयोग किया जा रहा है। छोटे रेजीडेंशियल टाइप्स (हाउसेस) से बड़े कमर्शियल और इंडस्ट्रियल स्ट्रक्चर्स (हॉस्पिटल्स और फैक्टरीज) तक सभी प्रकार के भवनों की ड्राफ्टिंग और डिजाइन में केड का प्रयोग किया जा रहा है।

पेंट/इमेज एडीटिंग सॉफ्टवेयर (Paint/ Image Editing Software)

इमेज एडीटिंग सॉफ्टवेयर पेंट सॉफ्टवेयर की सारी खूबियां देता है, ये इलस्ट्रेशन सॉफ्टवेयर भी कहलाते है जो स्केन की हुई इमेज में बदलाव करने और सुन्दर बनाने की अनुमति देता है। यूजर्स पेन, ब्रश, आईड्रॉपर और पेंट बकेट जैसे विभिन ऑन-स्क्रीन टूल्स से पिक्चर्स, शेप्स और अन्य ग्राफिकल इमेज ड्रा कर सकते हैं। आप फोटोग्राफ्स को रीटच, इमेज को कलर्स एडजस्ट व एनहांस और शैडो व ग्लो जैसे विशेष इफेक्ट्स दे सकते हैं। कुछ फुल-फीचर्ड इमेज एडीटर्स एडोब फोटोशॉप, पिक्चर पब्लिशर और फेक्टल डिजायन पेंटर हैं।

वीडियो व ऑडियो एडीटिंग सॉफ्टवेयर (Audio/ Video Editing Software)

वीडियो एडीटिंग सॉफ्टवेयर से. आप क्लिप कहलाने वाली वीडियो के एक हिस्से को मोडिफाई कर सकते हैं। उदाहरण के लिए आप वीडियो क्लिप की लंबाई घटा सकते हैं, क्लिप्स को रीऑर्डर कर सकते हैं या स्क्रीन के आर-पार हॉरीजेंटली जाने वाले शब्दों जैसे विशेष इफेक्ट्स दे सकते हैं। ऑडियो एडीटिंग सॉफ्टवेयर में साधारणतया फिल्टर होते हैं, जो ऑडियो क्वालिटी बढ़ाने के लिए बने होते हैं। ऑडियो क्लिप से डिस्ट्रेक्टिंग और बैकग्राउंड के शोर को फिल्टर हटा सकता है।

ई-मेल (E-Mail)

ई-मेल (इलैक्ट्रॉनिक मेल) पर्सनल और बिजिनेस यूजर दोनों के द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली मुख्य कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी है। ई-मेल लोकल एरिया नेटवर्क या वाइड एरिया नेटवर्क जैसे कंप्यूटर नेटवर्क के जरिए मैसेज का ट्रांसमिशन) है। आप ई-मेल सॉफ्टवेयर को ई-मेल मैसेज क्रिएट, सेंड, रिसीव, फोरवर्ड, स्टोर, प्रिंट और डिलीट करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

ई-मेल मैसेज, साधारण टैक्स्ट हो सकता है या वर्ड प्रोसेसिंग डाक्यूमेंट, ग्राफिकल इमेज या ऑडियो ।। वीडियो क्लिप जैसा अटैचमेंट हो सकता है।

वैब ब्राउसर्स (Web Browser)

वैब ब्राउसर, इंटरेट पर वैब पेज को एक्सेस और देखने के लिए इंटरफेस की तरह काम करता है। आज ब्राउसर्स । ग्राफिकल यूजर इंटरफेस है और सीखने व प्रयोग करने में काफी आसान है। ब्राउसर्स में वैब साइट के जरिए आपक नेवीगेट करने में मदद देने के लिए बटन सहित कई विशेष फीचर्स होते हैं।

Read Also-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *