NSC or KVP

NSC or KVP- Which is better Investment Option | पोस्ट ऑफिस की कोनसी स्कीम सबसे अच्छी “एनएससी या केवीपी”

आज आपको बताएँगे NSC यानि नेशनल सविंग सर्टिफिकेट और KVP यानि किसान विकाश पत्र के वारे मे सम्पूर्ण जानकारी। की इनमे से कोनसी स्कीम आपके लिए ज्यादा  Best  है(NSC or KVP- Which is better Investment Option)। किसमे हमे Investment करना चाहिए। और क्या अंतर है इन दोनों स्कीम मे।

Similarities of NSC & KVP (NSC और KVP मे समानताएं)

  • अंतर से पहले एक समानता बताते है इन दोनों स्कीम मे वो है दोनों ही स्कीम पोस्ट ऑफिस की स्कीम है इन्हे सिर्फ पोस्ट ऑफिस मे ही खुलवाया जा सकता है।
  • इसके अलावा ये दोनों ही स्कीम भारत सरकार की स्कीम है। इन दोनों ही स्कीम मे एक निश्चित समय के लिए पैसों को पोस्ट ऑफिस मे जमा कराया जाता है।

Sukanya Samriddhi Scheme 2020 ( सुकन्या समृद्धि योजना

Senior Citizen Saving Scheme (2020) वरिष्ठ नागरिक बचत योजना

Difference Between NSC or KVP (NSC और KVP मे अंतर)

जानते हैं दोनों जमा योजनाओं में अंतर। तो पहला अंतर है इसमे

निवेश की अवधी।

अगर NSC यानि नेशनल सविंग सर्टिफिकेट की की बात करें तो एनएससी मे पैसा जमा करने की अवधि 5 वर्ष की होती है । इसमे से 5 वर्ष से पहले जमा पैसों को नहीं निकाल सकते है।

जबकि अगर KVP यानि किसान विकाश पत्र मे आप पैसे जमा करते हैं तब अभी की ब्याज दर को देखते हुए 124 माह यानि 10 वर्ष और 4 माह बाद ही निवेश किए हुए पैसे को परिपक्व होने के बाद दुगना करके निकाल सकते हैं।
यांनी संछेप मे कहें तो केवीपी मे 124 माह मे पैसा दो गुना हो जाता है।

Minimum Investment Amount

दूसरा अंतर है NSC or KVP मे Minimum कितने amount से इनवेस्टमेंट कर सकते है।
NSC मे आप मिनिमम 100 रुपये से Investment कर सकते हैं। जैसे 100 रु 500रु 1000रु से जबकि KVP मे मिनिमम 1000 रुपये के गुणाक से इनवेस्टमेंट कर सकते हैं। यानि केवीपी मे 1000, 2000, 3000 रुपये इस तरह से जमा कर सकते हैं।

Interest Rate NSC or KVP

जहां राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (एनएससी) में अभी 6.8 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है, वहीं किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 6.9 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है।

अगर इस स्कीम में आज कोई 1000 रुपये का निवेश करता है तो उसे 5 साल बाद 1389.49 रुपये मिलेंगे।

TAX Rebate NSC or KVP

अब जान लेते है चौथे अंतर को तो वो है इसमे टैक्स से संबन्धित
NSC मे हम जो भी पैसा जमा करते है उस पर हमे अंडर 80C के तहद टैक्स छुट का लाभ मिल जाता है। यानि हम NSC मे जमा 1.5 लाख रुपये तक का उस Financial Year का, टैक्स छुट का लाभ ले सकते है। जबकि

KVP मे जमा पर हमे किसी भी तरह का टैक्स छुट लाभ नहीं मिलता है। चाहे कितना भी amount हम KVP मे जमा करें उस पर हमको 80c के तहद कोई भी टैक्स छुट का लाभ नहीं मिलता है।और न ही उस पर मिलने वाले ब्याज पर कोई TDS इत्यादि की छुट का लाभ मिलता है।
तो अगर आप टैक्स छुट का लाभ लेना चाहते है तब आपके लिए NSC ही निवेश के लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

Pri Mature Amount NSC or KVP

अगला अंतर है partial withdrawal का, जहां NSC की बात करें तो NSC स्कीम मे lock in period होता है 5 वर्ष का और अगर आपको बीच मे पैसों की जरूरत पड़ती है तब आप NSC मे से पैसे नहीं निकाल सकते।

जबकि KVP मे आज के समय मे Maturity 10 वर्ष और 4 महीना है। लेकिन अगर आपको बीच मे पैसों की जरूरत पड़ जाये तब आप इसमे से 30 माह बाद Partial Withdrawal कर सकते हैं।

तो ये थे कुछ अंतर NSC और KVP स्कीम मे। तो अब आप तय कर सकते हैं की आपको किसमे इनवेस्टमेंट करना चाहिए। अगर टेक्स बचाना है और कम समय के लिए निवेश करना है तब NSC सबसे बेस्ट है। और अगर लंबे समय के लिए अपने पैसे को निवेश करके रखना चाहते है और उस पैसे को डबल करना चाहते हैं तब KVP अच्छा विकल्प है निवेश करने के लिए।

Read Also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *